इधर पार्टी में जान फूंकने अमेठी पहुंचे राहुल गांधी, उधर कांग्रेस के लिए आ गई बहुत बुरी खबर

इधर पार्टी में जान फूंकने अमेठी पहुंचे राहुल गांधी, उधर कांग्रेस के लिए आ गई बहुत बुरी खबर

लोकसभा चुनाव की हार के बाद कांग्रेस में बहुत उथल पुथल देखने को मिली है। राहुल गांधी का अध्यक्ष पद से इस्तीफा हो या कांग्रेस नेताओं के बयान, सब पार्टी को परेशान करने वाले हैं। हालांकि सबसे बड़ा झटका राहुल गांधी को उस समय लगा था जब वो अमेठी सीट से स्मृति ईरानी से हार गए थे। इसी वजह से वो बुधवार को पार्टी को दोबारा मजबूत करने अमेठी पहुंचे लेकिन इसी बीच कांग्रेस के लिए एक बेहद बुरी खबर आ गई। जनसत्ता न्यूज वेबसाइट के मुताबिक ये बुरी खबर गुजरात से आई है।

हार के बाद राहुल का पहला अमेठी दौरा

राहुल गांधी लोकसभा चुनाव में अमेठी से हारे और इसके बाद अब तक अमेठी नहीं गए थे। वहीं स्मृति ईरानी जीत के बाद तीन बार अमेठी लोकसभा क्षेत्र में जा चुकी हैं। हालांकि बुधवार को राहुल गांधी भी लखनऊ होते हुए अमेठी पहुंचे। कांग्रेस को मजबूत करने के लिए उन्होंने एक बार फिर जमीन मजबूत करने की कोशिश की। वो यहां पर कार्यकर्ताओं से मिले और बैठक भी की। राहुल के कार्यक्रम के तहत वो सलोन, अमेठी, गौरीगंज, जगदीशपुर और तिलोई विधानसभा क्षेत्रों के बूथ अध्यक्षों समेत पार्टी प्रतिनिधियों से मिलेंगे। वहीं उनका कुछ गांवों में दौरा करने का प्लान भी है।

अब जानें कांग्रेस के लिए आई कौन सी बुरी खबर

जनसत्ता डॉट कॉम की न्यूज के मुताबिक राहुल गांधी के अमेठी दौरे के बीच गुजरात से कांग्रेस के लिए बेहद बुरी खबर आई है। यहां होने वाले जूनागढ़ निकाय चुनाव से पहले कांग्रेस के सात प्रत्याशियों ने एक साथ नामांकन वापस ले लिया है। इससे पार्टी में खलबली मच गई। नाम वापसी के बाद भाजपा के तीन प्रत्याशियों को निर्विरोध जीत मिल गई। इस पूरी घटना पर कांग्रेस नाराज हो गई है। जूनागढ़ कांग्रेस नेता हेमंत वसवाड़ा ने कहा कि ये भारतीय जनता पार्टी की साजिश है। उसने ही हमारे उम्मीदवारों को नाम वापस लेने के लिए मजबूर कर दिया।

livehindikhabar.com