एक ऐसा मंदिर जो लोगों की बाघों से करता है रक्षा

RJ02RJ02
आदमखोर बाघों की धरती कहे जाने वाला सुंदरवन आज एक देवी के वजह से काफी सुरक्षित है। जी हां, सुंदरवन जहां आदमखोर बाघों ने उधम मचाया हुआ था। इसकी परिस्थितयां सुधारने का कार्य यहां की बोनबीबी द्वारा किया गया है। इस देवी द्वारा सभी की रक्षा करने पर हिंदू लोग इनकी पूजा करते हैं तो वहीं मुसलमान व्यक्ति यहां इबादत करते हैं।
यहां के स्थानीय लोगों का कहना है कि इन देवी को भगवान से स्वर्ग से लोगों की रक्षा के लिये भेजा है। इनका जन्म सऊदी अरब के एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। हज पर जाने के बाद उन्हें दैवीय शक्तियां प्राप्त हो गईं और उन्होंने यहां आकर लोगों की खूंखार बाघों से रक्षा की थी।
इतना ही नहीं इस जंगल पर दक्षिण राय नामक राक्षस का भी शासन था। जिसके अत्याचारों से लोगों को बचाने के लिए उन्होंने राक्षस से भी युद्ध किया और उन्हें हरा दिया। युद्ध के बाद राक्षस ने उनसे रहम की भीख मांगी, जिस पर देवी ने उन्हें माफ भी कर दिया था। माफी के तौर पर देवी ने राक्षस से लोगों की बाघों से रक्षा का वचन लिया था। बाद में वह राक्षस अपने वचन से मूकर गया और कहीं जंगल में जाकर छिप गया । कहा जाता है कि यहां जंगल में प्रवेश करने से पहले लोग इस देवी की पूजा जरूर करते हैं। उसके बाद ही वे जंगल में प्रवेश करते हैं। यहां आने वाले लोगों को सुंदरबन में जगह जगह बोनबीबी की प्रतिमाएं नजर आएँगी।
RJ02RJ02