उपचुनाव से पहले मायावती को झटका देगी भाजपा, इस बड़े दांव की तैयारी में

RJ02RJ02

समाजवादी पार्टी के कई नेताओं को तोड़ अपने पाले में करने के बाद अब भारतीय जनता पार्टी की नजरें बहुजन समाज पार्टी पर टिक गयी हैं. भाजपा उपचुनाव से ठीक पहले बसपा सुप्रीमो मायावती को बड़ा झटका देने की तैयारी में है. पार्टी की नजरें बसपा के कम से कम 6 सांसदों को अपने खेमें में करने पर हैं.

बसपा के पास इस वक्त कुल 10 सांसद हैं, इसमें 6 सांसदों के एक साथ पार्टी छोड़ दूसरी पार्टी में शामिल होने पर दलबदल कानून लागू नहीं होगा. वहीँ 10 सांसदों में से तीन मुस्लिम सांसद हैं, जिनके भाजपा में शामिल होने की सम्भावना काफी कम है, जबकि अन्य सांसद पार्टी का दामन छोड़ सकते हैं.

RJ02RJ02

जल्द ही उत्तर प्रदेश में 13 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं. इन सीटों में दस सीटें ऐसी थीं जहाँ भाजपा के विधायक थे, जो सांसद बन गए. ऐसे में पार्टी उपचुनाव में सबसे ज्यादा सीटें जीतना चाहती है, जिससे संदेश जा सके कि पार्टी की छवि में लगातार सुधार हो रहा है और प्रदेश की योगी सरकार बेहतर तरीके से काम कर रही है.

जिन सात बसपा सांसदों पर भाजपा की नजरें हैं उनमें, संगीता आजाद, गिरीश चन्द्र, मलूक नागर, रितेश पाण्डेय, शिरोमणि राम, अतुल कुमार और श्याम सिंह यादव हैं. श्याम सिंह बसपा संसदीय दल के नेता भी हैं.

वहीँ जिन तीन सांसदों के बसपा छोड़ने की संभावना बेहद कम हैं वह हैं अफजल अंसारी, दानिश अली और हाजी फजलुर्रहमान

RJ02RJ02